क्या है Novel CoronaVirus (COVID-19) ? प्रकार, कारण, रोकथाम एवं बचाव



क्या है Novel CoronaVirus (COVID-19) ? प्रकार, कारण, रोकथाम एवं बचाव

 चीन के वुहान नामक शहर से शुरू हुआ वायरस कोरोना आज दुनिया के 190 देशों में तक फ़ैल चुका है. इसके संक्रमण के फलस्वरूप 25 March, 2020 तक मरने वालो की संख्या 18000 से भी अधिक हो चुकी है तथा अब तक इससे संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 4 लाख 11 हजार से भी अधिक है | विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने इसे मार्च माह के प्रथम सप्ताह में ही महामारी घोषित कर दिया है.डॉक्टर और वैज्ञानिकों का कहना है इसके संक्रमण को फैलने से रोककर ही इसे काबू में किया जा सकता है.

What is Coronavirus (COVID-19) details in Hindi

CoronaVirus Update Live


What is Corona Virus? क्या है कोरोना वायरस?

CoronaVirus का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है जो जानवरों, पक्षियों, स्तनधारियों और इंसानों में जानलेवा बीमारी उत्पन्न करते है तथा जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है.

कितने प्रकार का होता है कोरोना वायरस (Types of Corona Virus)

कोरोना वायरस के छह प्रकार थे जो कि अब नये Virus के मिलने के बाद से 7 हो गये है, जिन्हें अलग-अलग नाम से जाना जाता है:-
  1. 229E (alpha coronavirus)
  2. NL63 (alpha coronavirus)
  3. OC43 (beta coronavirus)
  4. HKU1 (beta coronavirus)
  5. MERS-CoV (the beta coronavirus that causes Middle East Respiratory Syndrome, or MERS)
  6. SARS-CoV (the beta coronavirus that causes severe acute respiratory syndrome, or SARS)
  7. SARS-CoV-2 (the novel coronavirus that causes coronavirus disease 2019, or COVID-19)



क्या है ‘2019 नॉवेल कोरोना वायरस’ (What is 2019-nCoV

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस के छह प्रकार हैं जिन्हें अलग-अलग नाम से जाना जाता है परन्तु चीन के वुहान नामक शहर में मिले इस नये सातवे प्रकार को 2019-nCoV (2019 नॉवेल कोरोना वायरस) नाम दिया गया है विशेषजज्ञो की माने तो यह नया वायरस वुहान के Sea Food and Animal market से इंसानों में फैला है। और अधपके मांस से इसकी सम्भावना कई गुना बढ़ सकती हैं| अब इस नये प्रकार के वायरस को CoVID-19 के नाम से जाना जा रहा है|

कैसे फैलता है कोरोना वायरस? (How the Corona Virus Spread?)

Human Corona Virus एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। corona virus से संक्रमित को स्पर्श करने, हाथ मिलाने से यह virus एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है| संक्रमित व्यक्ति के छींकने और खांसने से Corona Virus हवा के माध्यम से दूसरों को संक्रमित करता है। इसके अलावा वायरस से संक्रमित वस्तु, सतह और बिना हाथ धोए मुंह, नाक और आंखों को छूने से corona virus का संक्रमण हो सकता है। कुछ दुर्लभ मामलों में मल के संपर्क में आने से भी कोरोना वायरस फैल सकता है।

नॉवेल कोरोना वायरस (COVID-19) के फैलने के कारण? (What are the Causes for Corona Virus Spread)

चूँकि COVID-19 वायरस वुहान शहर में Sea Food Market से फैला है। इसलिये माना जा रहा है कि समुद्री मछली कोरोना वायरस का वाहक हो सकती है। हालांकि वुहान के Sea food market में समुद्री जीवों के अलावा जिंदा जंगली जानवर जैसे सांप, खरगोश, मुर्गियां और चमगादड़ भी बेचे जाते हैं। इनमें से किसी भी जानवर में कोरोना वायरस हो सकता है।
कुछ शोधो के अनुसार COVID-19 चीन के हॉर्सशू चमगादड़ में पाये जाने वाले वायरस से मिलता जुलता है।


कोरोना वायरस के इंफेक्शन के बारे में कब पता चलता है? (When do Coronavirus Symptom appears?)

     

WHO के अनुसार कई Virus ऐसे होते हैं जिनके संक्रमण का असर तुरंत नजर नहीं आता बल्कि कुछ दिनों बाद पता चलता है। इसे इनक्यूबेशन पीरियड (Incubation Period) कहते हैं अर्थात वह समय जब मरीज वायरस से पीड़ित तो है लेकिन लक्षण नहीं दिख रहे हैं।
कोरोनावायरस के मामले में भी सबसे खतरनाक बात यह है कि अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार इसका इनक्यूबेशन पीरियड 1 से लेकर 14 दिनों तक का है।
संक्रमित होने के 1 से 14 दिनों के बाद ही इसके हल्के फुल्के सर्दी-जुकाम वाले लक्षण नजर आ रहे हैं और फिर अचानक ये लक्षण गंभीर होने लगते हैं और संक्रमित व्यक्ति की हालत बिगड़ने लगती है।
संक्रमित व्यक्ति के शरीर में ये वायरस अपनी संख्या तेजी से बढ़ाते हैं और अपने मूल रुप को बदल लेते हैं जिसके कारण व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है।

कोरोना वायरस इंफेक्शन के लक्षण (Symptoms of Corona Virus)

कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाते हैं बहुत हद तक ज़ुकाम और फ्लू के लक्ष्ण से पाए जाते हैं.
  • कोरोनावायरस (कोवाइड-19) में पहले बुख़ार होता है.
  • इसके बाद सूखी खांसी होती है और फिर एक हफ़्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है.
  • इन लक्षणों का हमेशा मतलब यह नहीं है कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण है.
  • कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में निमोनिया, सांस लेने में बहुत ज़्यादा परेशानी, किडनी फ़ेल होना और यहां तक कि मौत भी हो सकती है.
  • उम्रदराज़ लोग और जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है (जैसे अस्थमा, मधुमेह, दिल की बीमारी) उनके मामले में ख़तरा गंभीर हो सकता है.


कोरोना वायरस का इतिहास (History of Corona Virus)


पहली बार कोरोना वायरस का पता 1960 में चला था। इस वायरस के ऊपरी हिस्से पर चारों मुकुट जैसा कवर होने के कारण इसे कोरोना नाम दिया गया था।

कोरोना वायरस की जांच (Medical Check-ups for Corona Virus)

कोरोना वायरस के संक्रमण कीई जांच के दौरान मरीज से इंफेक्शन से जुड़े लक्षणों के बारे में पूछा जाता है। इसके साथ ही मरीज के खून, थूक, नाक और गले के बलगम एवं श्वसन से जुड़े अन्य नमूने भेजे जाते हैं और उनके आधार पर जांच की जाती है।

थर्मल स्कैनर से कोरोना वायरस की जांच

India Airport पर बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच थर्मल स्कैनर द्वारा की जा रही है। डॉक्टरों का कहना है कि इस प्रक्रिया में विदेशों से आ रहे लोगों को हवाईअड्डे पर एक स्कैनर से होकर गुजरना होता है। इस दौरान यदि थर्मल स्कैनर से गुजरने वाले किसी व्यक्ति के शरीर का तापमान सामान्यत व्यक्ति के तापमान से अधिक पाया जाता है, तो ऐसे संदिग्ध की मेडिकल जांच की जाती है।

कोरोना वायरस से बचने के उपाय (Preventions for Novel Corona Virus)

  • कोरोना से मिलते-जुलते वायरस खांसी और छींक से गिरने वाली बूंदों के ज़रिए फैलते हैं.
  • अपने हाथ अच्छी तरह धोएं.
  • खांसते या छींकते वक़्त अपना मुंह ढक लें.
  • दिन में कई बार गुनगुने पानी और साबुन से अपने हाथों को 20 सेकेंड तक साफ करें।
  • हाथों को साफ किए बिना चेहरा,नाक और मुंह को न छूएं।
  • बीमारी लोगों के नजदीक न बैठें।
  • हाथ साफ़ नहीं हो तो आंखों, नाक और मुंह को छूने बचें.
  • जिन वस्तुओं को आप अक्सर छूते हैं उन्हें साफ रखें।
  • छींकते या खांसते समय मुंह पर रुमाल रखें।
  • बीमार होने पर घर पर ही ठहरें।
  • पर्याप्त आराम करें और भारी काम करने से बचें।
  • पर्याप्त पानी पीएं और शरीर को हाइड्रेट रखें।
  • धूम्रपान न करें और धुएं वाले क्षेत्रों में रहने से बचें।
  • किसी दूसरे व्यक्ति का टॉवेल, बिस्तर या चादर यूज न करें।
  • बाजार में बिकने वाली खुली चीजें खाने से परहेज करें।
  • अधपका मांस या अंडा न खाएं।
  • जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।
  • अकेले कमरे में रहें और किसी के साथ बिस्तर साझा न करें।
  • किसी भी संक्रमित सतह जैसे दरवाजे की कुंडी, बालकनी की रेलिंग, मोबाइल फोन आदि छूने के बाद अपने हाथों को साबुन से साफ करें।
  • संक्रमित हाथों से शरीर के संवेदनशील अंगों को स्पर्श न करें।

कोरोना का संक्रमण फैलने से कैसे रोकें?

  • अगर आप संक्रमित इलाक़े से आए हैं या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में रहे हैं तो आपको अकेले रहने की सलाह दी जा सकती है.
  • घर पर रहें
  • ऑफ़िस, स्कूल या सार्वजनिक जगहों पर न जाएं
  • सार्वजनिक वाहन जैसे बस, ट्रेन, ऑटो या टैक्सी से यात्रा न करें
  • घर में मेहमान न बुलाएं.
  • घर का सामान किसी और से मंगाएं.
  • अगर आप और भी लोगों के साथ रह रहे हैं तो ज़्यादा सतर्कता बरतें.
  • अलग कमरे में रहें और साझा रसोई व बाथरूम को लगातार साफ़ करें.
  • 14 दिनों तक ऐसा करते रहें ताकि संक्रमण का ख़तरा कम हो सके.
इस तरह के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि कोरोना वायरस पार्सल, चिट्टियों या खाने के ज़रिए फैलता है. कोरोना वायरस जैसे वायरस शरीर के बाहर बहुत ज़्यादा समय तक ज़िंदा नहीं रह सकते.

कोरोना वायरस इंफेक्शन का इलाज (Treatment of Novel Corona Virus)

नॉवेल कोरोना वायरस 2019 के संक्रमण का कोई विशेष इलाज नहीं है और ना ही इस वायरस से बचने के लिए किसी वैक्सीन या दवा की खोज की गयी है। परन्तु बेहतर देखभाल से इसे कम किया जा सकता है डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित लोगो को ऐसी दवाईयों देते है जो उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढा सके और शरीर को संक्रमण से लड़ने की शक्ति दे |

कोरोना वायरस का संक्रमण हो जाये तब?

1. इस समय कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है लेकिन इसमें बीमारी के लक्षण कम होने वाली दवाइयां दी जा सकती हैं.
2. जब तक आप ठीक न हो जाएं, तब तक आप दूसरों से अलग रहें.
3. कोरोना वायरस के इलाज़ के लिए वैक्सीन विकसित करने पर काम चल रहा है जिसमे सम्भवता अधिक वक्त भी लग सकता है .
4. इस साल के अंत तक इंसानों पर इसका परीक्षण कर लिया जाएगा.
5. कुछ अस्पताल एंटी-वायरल दवा का भी परीक्षण कर रहे हैं.



लेख पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद् ||
























____________


निवेदन- हमारा ये  लेख आपको कैसा  लगा  Comment में जरुर बताये हम से Facebook पर जुड़ने के लिए पेज को Like करे और लेख को अधिक से अधिक लोगो तक Share करे|

नोट- आपके पास भी अगर कोई  अच्छा लेख, कहानी या जानकारी है तो हमे aryanprimeofficial@gmail.com पर भेजिए हम उसको आपके नाम और फोटो के साथ Publish करेगे|


Teg:-What is Corona Virus? Types of Corona Virus 229E (alpha coronavirus) NL63 (alpha coronavirus) OC43 (beta coronavirus) HKU1 (beta coronavirus) MERS-CoV (the beta coronavirus that causes Middle East Respiratory Syndrome, or MERS) SARS-CoV (the beta coronavirus that causes severe acute respiratory syndrome, or SARS) SARS-CoV-2 (the novel coronavirus that causes coronavirus disease 2019, or COVID-19)What is 2019-nCoV How the Corona Virus Spread, What are the Causes for Corona Virus Spread When do Coronavirus Symptom appears? Symptoms of Corona Virus History of Corona Virus Medical Check-ups for Corona Virus, Thermal scanning Preventions for Novel Corona Virus Treatment of Novel Corona Virus CORONA VIRUS details in Hindi, Kya hai corona virus , corona virus se kasie bache. corona virus ki dawai , corona ka ilaj , corona virus se bachne ke upays
क्या है Novel CoronaVirus (COVID-19) ? प्रकार, कारण, रोकथाम एवं बचाव क्या है Novel CoronaVirus (COVID-19) ? प्रकार, कारण, रोकथाम एवं बचाव Reviewed by Anshul Gupta on 3/25/2020 Rating: 5

No comments:

Recent In Internet

AryanPrime.com. Powered by Blogger.